जानें कैसे सिक्किम भारत का हिस्सा बना?

जानें कैसे सिक्किम भारत का हिस्सा बना?

सिक्किम भारत का पूर्णतः आर्गेनिक खेती करने वाला राज्य है. सिक्किम भारत का 22वां राज्य है जो हिमालय की आंतरिक पर्वत श्रृंखला का एक हिस्सा है. यह देश का दूसरा सबसे कम आबादी वाला राज्य है और पूर्वोत्तर भाग में स्थित है. क्या आप जानते हैं कि सिक्किम 1975 में भारत का हिस्सा बन गया था परन्तु कैसे, पहले यहां पर किसका शासन था इत्यादि को आइये इस लेख के माध्यम से अध्ययन करते हैं.

स्थान: पूर्वी हिमालय में एक बहुत ही छोटा पहाड़ी राज्य सिक्किम है, जो तिब्बत, नेपाल, भूटान और भारतीय राज्य पश्चिम बंगाल के बीच में स्थित है.
राजधानी: गंगटोक
क्षेत्रफल: 7,096 वर्ग किलोमीटर
प्रधान भाषाएं: लेप्चाम, भूटिया


सिक्किम भारत का दूसरा सबसे कम आबादी वाला 22वां राज्य है जो हिमालय की आंतरिक पर्वत श्रृंखला का एक हिस्सा है. यह देश के पूर्वोत्तर भाग में स्थित है, दक्षिण से यह पश्चिम बंगाल से घिरा हुआ है, दक्षिण पूर्व में भूटान से, पश्चिम में नेपाल और चीन के तिब्बत स्वायत्त क्षेत्र में उत्तर-पूर्वी हिस्से पर स्थित है. यह पर्यटकों का काफी पसंदीदा स्थान है क्योंकि यहां पर सुंदर पहाड़, गहरी घाटियां और जैव विविधता है. सिक्किम का सबसे बड़ा शहर और राजधानी गंगटोक है. यह शिवालिक की पहाड़ियों पर 5500 फीट की ऊंचाई पर स्थित है. दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा पर्वत कंचनजंगा को भी गंगटोक से देखा जा सकता है.


क्या आप जानते हैं कि सिक्किम 1975 में भारत का हिस्सा बन गया था परन्तु कैसे, पहले यहां पर किसका शासन था इत्यादि को आइये इस लेख के माध्यम से अध्ययन करते हैं.

सिक्किम में पहले किसका शासन था: इतिहास

देखा जाए तो सिक्किम का राजनितिक अतीत है जिसमें कई महत्वपूर्ण घटनाएं हुई हैं जो आदिवासी शासकों, ब्रिटिश सत्ता और इस राज्य के भारत में शामिल होने से सम्बंधित हैं. जब तक लेपाचाओं (17वीं शताब्दी) ने सिक्किम में सत्ता हासिल नहीं कि थी तब तक इस राज्य में मोन, नाओंग और चांग का शासन था. यहां पर सबसे प्रमुख साम्राज्य चोग्याल का था.


1890 के दौर में सिक्किम ब्रिटिश इंडिया के अंतर्गत ‘प्रोटेक्टोरेट स्टेट’ बना. ‘प्रोटेक्टोरेट स्टेट’ मतलब कि सिक्किम की सुरक्षा अब से अंग्रेजों के हाथ में चली गई. बदले में अंग्रेजों को कुछ भाग पर कर लगाने का अधिकार भी मिला.


यह अंग्रेजों की उस नीति का भाग था, जिसमें चीन और ब्रिटिश इंडिया के बीच बफर स्टेट्स (दो बड़े राज्यों को टकराव से बचाने के लिए बीच में स्थापित छोटे देश) की स्थापना की गई, जिसमें शामिल थे नेपाल, भूटान और सिक्किम.

Post a Comment

0 Comments